Success पाना या सफल होना कई लोगों के लिए बहुत बड़ी बात बन जाती हैं। जब वे एक बार हारकर या असफल होकर हार मान देते हैं। पर दोस्तों कुछ ऐसे भी लोग होते हैं जो उस हार से सीखते हैं और पुनः जीतने का जुनून लिए सफल होने का प्रयास करते हैं। आज की ये छोटी सी Motivational poem उन्ही हारे हुए लोगों में प्रेरणा जगाने के लिए है जिसकी पंक्तियां कुछ इस तरह है:-

Best Motivational Poem in Hindi for students
Best Motivational Poem in Hindi 


हार के अब तू  जीतना सीख
हार के अब तू जीतना सीख, 
मिले मौके को बटोरना सीख, रह गया था तू मंजिल को पाने से, इस बार उस मंजिल को पाना सीख। 

हार के अब तू  जीतना सीख, 
जो छोडें थे  सीढ़ी पे कदम, उन कदमों के छापों को गाढना सीख, उठ खड़ा अब हो तु जा उस आसमा में जीना सीख, उस आसमा में उड़ान सीख।

हार के अब तू  जीतना सीख, 
लोगों की तोहीन को अब वाह-वाह में बदलना सीख, उठ खड़ा अब हो तु जा उस आसमा में जीना सीख, उस आसमा में उडना सीख। 

अटका था जिन सवालों पे तू , उन सवालों को हल करके देख। 
बहाएं थे जो आंसू हार में, उन आंसूओं को जीत में बदल के देख। उठ खड़ा अब हो तु जा उस आसमा में जीना सीख, उस आसमा में उडना सीख।

छोडी थी मेहनत हार मे,
उस मेहनत को पुनः कर के देख।
मीट्टी सा जो तु मीठ गया था,
पत्थरों पर उमड के देख ।
झूके शीश जो तेरी हार से,
उस शीश को उठाना सीख। 
उठ खडा अब हो तू जा उस आसमा मे जीना सीख उस आसमा मे उडना सीख।

भरोसे थे जो तुझ पर उस भरोसे, को पुनः जगाना सीख।
रह गई थी जो सफलता उस सफलता को पुनः पाकर देख।
रेत सा जो तू बिखर गया था, अब बिखर के संभलना सीख।
उठ खडा अब हो तु जा उस आसमा मे जीना सीख, उस आसमा मे उडना सीख।


दोस्तों  हार और जीत दोनों ही जीवन के महत्वपूर्ण भाग है, इसीलिए ये सब तो जीवन में चलता ही रहेगा लेकिन आपको सदैव ही डट कर उसका सामना करना है और विश्वास कीजिये की आप अवश्य सफल होंगे।


2 Comments

Post a comment

Previous Post Next Post